युवक पर फायरिंग के मामले में नया मोड़: खेजडियाली में हुई फायरिंग की घटना का बड़ा खुलासा

0
18
खेजड़ियाली गांव का मामला
समदड़ी खेत से लौट रहे युवक पर फायरिंग घटना नया मोड़

समदड़ी खेजड़ियाली गांव में फायरिंग की घटना में नया मोड़ फायरिंग मामले में दो गिरफ्तार अपनी ही बंदूक से चली गोली

एक

समदड़ी क्षेत्र में खेत से लौट रहे युवक पर फायरिंग
खेत से लौट रहे युवक पर फायरिंग, पैर में गोली लगने से घायल, जोधपुर रेफर

 

समदड़ी. खेजडियाली गांव में एक शाम को हुई फायरिंग की घटना में नया मोड़ आ गया है। घायल ने अपने से रंजिश रखने वाले एक परिवार को फंसाने के चक्कर में उस पर फायरिंग का झूठा आरोप लगाकर उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने की चाल चली मगर पुलिस की सतर्कता के चलते झूठी रिपोर्ट दर्ज नहीं करवा पाए। इस घटना में पुलिस ने घायल के साथ रहने वाले दो जनों को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से दो टोपीदार बंदूक जब्त की है।

खुद की बंदूक से ही चली गोली फायरिंग की घटना में नया मोड़ फायरिंग मामले में दो गिरफ्तार, बंदूक जब्त

थानाधिकारी दाऊद खान ने बताया की घायल गणपतसिंह, जेठूसिंह दोनो राजपूत व सवाराम भील तीनों निवासी खेजडियाली गुरुवार दोपहर को दो टोपीदार बंदूक लेकर सवाराम की बाइक पर सवार होकर शिकार करने के लिए अपने खेत में गए। वहां तीनो में साथ बैठकर शराब पी कर । शिकार नहीं मिलने पर खेत से वापस घर आ रहे थे इस दौरान बाइक जेठूसिंह चला रहा था। बीच में सवाराम व पीछे गणपतसिंह बैठा था जिसके हाथ में प्लास्टिक के कट्टे में टोपीदार बंदूक थी जो लोडेड थी। बीच रास्ते में बाइक फिसलने से तीनों नीचे गिर गए। इस दौरान गणपतसिंह के हाथ में लोडेड की हुई बंदूक का ट्रेगर दब जाने से फायर हो गया। गोली गणपतसिंह के घुटने में लगी जिससे वह घायल हो गया। फायरिंग से प्लास्टिक का कट्टा व बाइक की सीट भी जल गई। घटना को छिपाने के लिए तीनों ने दोनो बंदूक को पास की झाड़ियों में छुपा दिया और बिना पुलिस सूचना के घायल को लेकर समदडी अस्पताल आ गए। अस्पताल में पहुंची पुलिस ने घायल का प्राथमिक उपचार करवाया। चिकित्सकों ने उसे जोधपुर रेफर किया।

बंदूक के साथ दो गिरफ्तार

पुलिस ने इस घटना की जांच पड़ताल की तो सच सामने आ गया। पुलिस ने घटना के दौरान घायल गणपतसिंह के साथ रहे जेठूसिंह व सवाराम को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से दो टोपीदार बंदूके जब्त की है। घटना के बाद जेठूसिंह ने सोशल मीडिया पर अपने से रंजिश रखने वाले गोविंदराम के परिवार पर फायरिंग करने की झूठी अफवाह भी वायरल की। जेठूसिंह वगैरह पर वर्ष 2006 में गोविंदराम भील की हत्या करने का भी आरोप है। जिनके खिलाफ पूर्व में कई अपराधिक प्रकरण दर्ज है। सवाराम के खिलाफ भी दो अपराधिक प्रकरण दर्ज है।

फायरिंग की घटना में नया मोड़ फायरिंग मामले में दो गिरफ्तार, बंदूक जब्त

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here