बारिश के मौसम में घूमने के लिए बेहतरीन है सतपुड़ा नेशनल पार्क, अनूठे नजारे जीत लेंगे दिल

0
9

हाइलाइट्स

बारिश के मौसम में इस नेशनल पार्क की प्राकृतिक खूबसूरती देखते ही बनती है.
सतपुड़ा नेशनल पार्क में आपको कई तरह के जानवर देखने को मिल जाएंगे.

Satpura National Park : बारिश के मौसम में अगर आप अपने परिवार व दोस्तों के साथ घूमने का प्लान बना रहे हैं तो सतपुड़ा नेशनल पार्क आपके लिए बेस्ट आप्शन रहेगा. बारिश में घूमने का एक अलग ही आनंद है. अगर आपको हरियाली और जानवरों से लगाव है तो नेशनल पार्क से बेहतर आपके लिए और कुछ नहीं हो सकता. इस मौसम में नेशनल पार्क के जानवर भी अपनी गुफा से बाहर आकर प्रकृति का मजा लेते हैं ऐसे में आपका उन्हें देख पाना भी आसान हो जाएगा. वैसे तो नेशनल पार्क देखने का बेस्ट टाइम अप्रैल से सितंबर तक का होता है लेकिन बारिश के मौसम में पार्क की खूबसूरती देखते ही बनती है. वहां आपको वाइल्ड लाइफ के ऐसे अनूठे नजारे देखने को मिलेंगे जो शायद ही आपने पहले कभी देखें हों.चलिए जानते हैं सतपुड़ा नेशनल पार्क में आपके लिए क्या होगा खास.

ये भी पढ़ें: अगर ट्रैवलिंग करते समय आती है उल्टी, तो राहत के लिए इन टिप्स को करें फॉलो

वॉकिंग सफारी

मध्य प्रदेश स्थित सतपुड़ा नेशनल पार्क भारत का एक मात्र ऐसा पार्क है जहां आप वॉकिंग सफारी का मजा ले सकते हैं. पैदल चलते हुए जंगल का मजा लिया जा सकता है. जब आप पैदल जंगल को एक्सप्लोर करेंगे तो कई तरह के जानवर आसानी से देखने को मिल जाएंगे. वॉकिंग सफारी करते हुए आपका एक्ससाइटमेंट भी काफी हाई रहता है. हालांकि सैर के लिए सफारी जीप भी उपलब्ध है जिसके लिए आपको प्री-बुकिंग करानी करवानी पड़ेगी.

मोबाइल कैंप की सुविधा

सतपुड़ा नेशनल पार्क में विजिटर्स को मोबाइल कैंप की सुविधा भी दी जाती है. यह एक मात्र ऐसा पार्क है जहां कैंप लगाना संभव है. मोबाइल कैंप नदी के किनारे या जंगल के पीक पर लगाया जाता है. यह वॉक-इन-टेंट काफी विशाल होते हैं जिसमें कैंप बैड और बाथरूम टेंट शामिल होता है. इसकी देखभाल कैंप क्रू द्वारा की जाती है साथ ही आपको एक पर्सनल गाइड की सुविधा भी दी जाएगी.

ये भी पढ़ें: पहली बार हिल स्टेशन का बना रहे हैं प्लान? ट्रैवल बैग में पैक करना न भूलें ये चीजें

यहां हैं 300 से अधिक बर्ड्स

सतपुड़ा नेशनल पार्क में आपको कई तरह के जानवर देखने को मिल जाएंगे, जिसमें चीता, जंगली कुत्ता, भालू, सियार के अलावा 300 से अधिक माइग्रेट बर्ड्स शामिल हैं. यह पार्क रेप्टाइल्स का घर है जहां 35 से अधिक रेप्टाइल्स की प्रताजियां पाई जाती हैं.

शामिल हैं कई साइट विजिट

नेशनल पार्क अपने आप में ही इतने बड़े एरिया में फैला है कि आप चलते-चलते थक जाएंगे लेकिन पूरा पार्क विजिट नहीं कर पाएंगे. हालांकि नेशनल पार्क के आसपास भी काफी जगह हैं जिसे देखा जा सकता है जैसे- धूपगढ़ चोटी, बी फॉल्स, देनवा बैकवॉटर्स व रॉक पेंटिंग्स.

(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

Tags: Lifestyle, MP tourism, Tourist Places, Travel

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here