इस बार जन्माष्टमी पर चलिए वृंदावन की गलियों में, सारी उम्र याद रहेगा ये ट्रिप

0
3

हाइलाइट्स

वृंदावन का प्रेम धाम देखें एक बार.
बांके बिहारी मंदिर की है अलग ही रौनक.

Trip of Vrindavan: श्री कृष्ण जन्माष्टमी यानि की भगवान श्री कृष्ण का जन्मदिन. भारत में कृष्ण जन्माष्टमी का त्योहार बड़े ही धूमधाम से मनाया जाता है. श्री कृष्ण जन्माष्टमी की रौनक भारत में ही नहीं, बल्कि विदेशों में भी खूब देखने को मिलती है. जन्माष्टमी के बाद से ही त्योहारों की शुरुआत हो जाती है. जन्माष्टमी को देश के हर कोने-कोने में मनाया जाता है, लेकिन श्री कृष्ण की जन्मभूमि वृन्दावन में इस त्योहार को मनाने का तरीका ही कुछ अनूठा सा है. इस ख़ास मौके पर आप चाहें तो वृंदावन जाने का प्लान कर सकते हैं. यहां पर कम से कम दो दिनों तक रुककर जन्माष्टमी का मजा लेना एक अलग ही अनुभव हो सकता है. जन्माष्टमी के मौके पर वृंदावन की ये ट्रिप आपको सारी उम्र याद रहेगी.

ख़ास हैं वृंदावन की गलियां
 वृंदावन की गलियां काफी संकरी है, जहां पर गाड़ी नहीं जा सकती. वहीं, अगर मौका जन्माष्टमी का हो तो गलियों से निकलना भी थोड़ा मुश्किल हो सकता है, क्योंकि इस मौके पर पर्यटकों की काफी भीड़ बांके बिहारी के दर्शन को उमड़ती है. 

ये भी पढ़ें: अगर आपको भी ट्रैवलिंग करते समय आती है उल्टी-चक्कर, तो ये टिप्स करें फॉलो

यमुनाघाट में अलग सी रौनक
जन्माष्टमी का मौका हो और यमुनाघाट ना गए तो, ये जन्माष्टमी ट्रिप थोड़ी अधूरी सी लग सकती है. नाव में सफर कर यमुना में डुबकी लगाने की बात ही कुछ और होती है.

भगवान श्री कृष्ण की जन्मभूमि
मथुरा की जिस जेल में भगवान श्री कृष्ण का जन्म हुआ था, उसे देखना ना भूलें. इसके अलावा मंदिर के दर्शन भी ज़रूर करें. यहां की आकर्षित गुफाओं को खासकर जन्माष्टमी के दिन भगवान कृष्ण की झांकियों से सजाया जाता है.

बांके बिहारी मंदिर के करें दर्शन
बांके बिहारी के मंदिर में दूर-दूर से लोग आते हैं. भगवान श्री कृष्ण और राधारानी को विग्रह रूप इस मंदिर में विराजमान है. जन्माष्टमी के मौके पर इस मंदिर को बहुत ही खूबसूरत तरीके से सजाया जाता है.

प्रेम मंदिर और इस्कॉन मंदिर
आप जब भी बांके बिहारी के मंदिर में दर्शन कने जाएं तो वहां पर पास ही में स्थित प्रेम मंदिर और इस्कॉन मंदिर भी जाएं. जन्माष्टमी में यहां पर कई तरह की झांकियां सजाई जाती हैं. साथ ही रात के समय श्री कृष्ण की बाल लीला का भी खूबसूरती से मंचन किया जाता है. इस बार जन्माष्टमी पर वृंदावन ज़रूर जाने का प्लान करें. जन्माष्टमी में वृंदावन की गलियों के इर्द-गिर्द प्लान किया हुआ ट्रिप सारी उम्र याद रहेगा.

ये भी पढ़ें: पहली बार हिल स्टेशन जाने का बना रहे हैं प्लान? पैक करना न भूलें ये चीजें

(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

Tags: Janmashtami, Lifestyle, Travel, Vrindavan

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here