World Tourism Day 2022: सैर करना भी है ज़रूरी, ट्रैवलिंग के लिए खुद को इस तरह करें प्रेरित, सहेजें यादगार लम्हे

0
1

हाइलाइट्स

आज (27 सितंबर) दुनिया भर में ‘विश्व पर्यटन दिवस’ मनाया जा रहा है.
‘वर्ल्ड टूरिज्म डे 2022’ की थीम ‘पर्यटन पर पुनर्विचार’ है.

Happy World Tourism Day 2022: आज (27 सितंबर) दुनिया भर में ‘विश्व पर्यटन दिवस’ मनाया जा रहा है. इस दिन को मनाने के पीछे खास मकसद है पर्यटन के महत्व को समझना. लोगों को पर्यटन, घूमने-फिरने के महत्व के बारे में बताना, इसके प्रति जागरूक करना है. अक्सर हम अपनी दिनचर्या में इतने व्यस्त रहते हैं कि घूमने-फिरने का प्लान नहीं बना पाते. एक राज्य से दूसरे राज्य के शहरों में जाकर ही हम वहां के कल्चर, खानपान, रीति-रिवाज को एक्सप्लोर कर सकते हैं.

देश-विदेश के मशहूर पर्यटक स्थलों को करीब से देखने-समझने का मौका तभी मिलेगा, जब आप अपने घर से बाहर ट्रैवल पर निकलेंगे. हालांकि, कुछ लोग ऐसे होते हैं, जिन्हें घूमना-फिरना बिल्कुल पसंद नहीं होता है. वहीं, कुछ ऐसे लोग भी हैं जो हर 5-6 महीने में कहीं ना कहीं घूमने निकल पड़ते हैं. यदि आपको लगता है कि घूमने-फिरने से समय बर्बाद होता है, तो ऐसा बिल्कुल नहीं है. जानते हैं घूमना-फिरना क्यों है ज़रूरी और खुद को कैसे करें इसके लिए प्रेरित.

इसे भी पढ़ें: लखनऊ का बड़ा इमामबाड़ा है बेहद खूबसूरत, यहां बने भूलभुलैया में जाकर लोग हो जाते हैं हैरान

ट्रैवल करना क्यों है ज़रूरी

-जब भी आप कहीं यात्रा पर जाते हैं, तो वहां के कल्चर, संस्कृति, खानपान को नज़दीक से देख-जान पाते हैं. अलग-अलग भाषा को जानने का मौका मिलता है. घूमने-फिरने से पर्सनल ग्रोथ को इंहैंस करने का भी मौका मिलता है.

-हर दिन के रूटीन से हटकर आप ट्रैवल के दौरान कुछ नया करते हैं. ट्रैवलिंग में कई बार कुछ ऐसे लोग भी मिल जाते हैं, जिनसे एक नया रिश्ता डेवलप हो जाता है. कई बार तो कुछ लोग हमेशा के लिए सच्चे दोस्त या फिर लाइफ पार्टनर भी बन जाते हैं. ट्रैवलिंग के जरिए आप अपने कंफर्ट जोन से बाहर निकलते हैं.

-ट्रैवल करने से व्यक्तिगत विकास होता है. ऐसे में आप प्रत्येक 6 महीने के गैप में दो-तीन दिन के लिए किसी ना किसी टूरिस्ट प्लेस पर घूमने निकल जाएं. अपने जीवन को अपने अनुसार जीने का मौका मिलता है.

-घूमने-फिरने से आप डेली रूटीन लाइफ की स्ट्रेस, चिंता, टेंशन से दूर होते हैं. ट्रैवलिंग से मानसिक शांति और सुकून का अहसास होता है. आपको खुशी महसूस होती है. कुछ ही दिनों के लिए सही आप अपने सारे ग़म, परेशानियों को भूल जाते हैं.

-यदि आप लंबी उम्र तक स्वस्थ जीवन जीना चाहते हैं, तो ट्रैवलिंग करने के लिए खुद को जरूर प्रेरित करें. जब आप किसी टूर पर होते हैं, तो आपका शरीर और दिमाग दोनों ही बहुत एक्टिव होता है. ट्रैवल करने से आपको मानसिक रूप से रिलैक्स महसूस होता है और आप स्ट्रेस फ्री रहते हैं.

-ट्रैवलिंग के जरिए अपने साथ कई यादों को साथ लेकर आते हैं, जिसे आप वीडियो, फोटो के जरिए कैप्चर करके हमेशा साथ रख पाते हैं.

घूमने-फिरने से होते हैं कई सेहत लाभ

यदि आप ट्रैवल करते हैं, तो स्ट्रेस दूर होता है. मूड फ्रेश होता है. दिमाग और मन पर पॉजिटिव असर होता है. घूमने-फिरने के दौरान जो लोग ट्रैकिंग, पैराग्लाइडिंग, बोटिंग, स्कूबा डाइविंग जैसे साहसिक खेलों में शामिल होते हैं, वे शरीर के साथ-साथ दिमाग से भी दुरुस्त रहते हैं. उनका दिल मजबूत होता है. अंदर का डर, हिचक दूर होता है. आप किसी भी कठिन कार्य को आसानी से कर पाते हैं. अधिक साहसिक, निडर बनते हैं. ट्रैवलिंग से मन को संतुष्टि और खुशी मिलती है, जिससे आपका सारा टेंशन, स्ट्रेस कम होता है.

इसे भी पढ़ें: कम खर्च में करना है ट्रैवल एंज्‍वॉय, तो इन 5 टिप्‍स को करें फॉलो, नहीं होगी पैसे की बरबादी

विश्व पर्यटन दिवस की थीम, कब हुई शुरुआत

विश्व पर्यटन दिवस की शुरुआत 1979 में यूनाइटेड नेशंस वर्ल्ड टूरिज्म ऑर्गनाइजेशन (UNWTO) द्वारा की गई थी. ‘वर्ल्ड टूरिज्म डे’ को आधिकारिक तौर पर मनाने की शुरुआत वर्ष 1980 में हुई थी. तब से लेकर आज तक प्रत्येक वर्ष पूरे विश्व में 27 सितंबर को यह दिन सेलिब्रेट किया जाता है. हर साल इस दिन को अलग थीम से सेलिब्रेट किया जाता है. इस वर्ष ‘वर्ल्ड टूरिज्म डे 2022’ की थीम ‘पर्यटन पर पुनर्विचार’ (Rethinking Tourism) रखी गई है.

Tags: Lifestyle, Tour and Travels, Travel

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here