बर्फीली पहाड़ियों और अद्भुत नजारों के लिए अरुणाचल प्रदेश का यह शहर है बेस्ट

0
3

हाइलाइट्स

अरुणाचल प्रदेश का रोइंग शहर अपनी खूबसूरती से आपका मन मोह लेगा.
रोइंग में आप एडवेंचरस एक्टिविटीज के साथ वाइल्डलाइफ सेंचुरी घूम सकते हैं.

Visiting Places In Roing: अरुणाचल प्रदेश में यूं तो घूमने वाली कई जगहें मशहूर हैं, लेकिन रोइंग बेहद खास है. रोइंग अपनी बर्फ से ढकी पहाड़ियों, पुरातात्विक स्थल, नदियों, झरने, गहरी घाटियों, शांत झीलों जैसे आकर्षक स्थलों के लिए जाना जाता है. यहां आना आपके लिए एक कंप्लीट ट्रैवलिंग एक्सपीरियंस हो सकता है. भीष्णनगर का किला और नेहरू उद्योग इस शहर का ऐतिहासिक महत्व भी बताते हैं. अरुणाचल प्रदेश के रोइंग में आपको बर्फीली पहाड़ियों को देखने का अनुभव एक बार जरूर लेना चाहिए. यहां आप अपनी फैमिली या फ्रेंड्स के साथ आ सकते हैं और रोइंग आपको बिल्कुल निराश नहीं करेगा. आइए अरुणाचल प्रदेश के इस शहर के बारे में जानते हैं.

इसे भी पढ़ेंः ‘जन्नत’ नजर आते हैं केरल के ये 5 टूरिस्ट प्लेस, तस्वीरें देखकर सब भूल जाएंगे

महो वाइल्डलाइफ सेंचुरी
रोइंग के सबसे मशहूर पर्यटक स्थलों में से एक महो वाइल्डलाइफ सेंचुरी है. यह अपनी प्राकृतिक सुन्दरता और विभिन्न वन्यजीव प्रजातियों के लिए यात्रियों के बीच काफी फेमस है. यहां आप बाघ, तेंदुआ, सियार, हिमालयी काला भालू, भारतीय साही, जंगली कुत्ता सहित कई अन्य जंगली जानवरों को देख सकते हैं. इसके साथ ही यहां जड़ी-बूटियों, झाड़ियों, फूलों और पौधों की अलग अलग वैरायटी आपको देखने को मिलेंगी.

मायूदिया
यह रोइंग से तकरीबन 60 किलोमीटर दूर स्थित एक जगह है. 8000 फीट की ऊंचाई पर स्थित मयूदिया, प्रकृति की अनोखी सुन्दरता का आनंद लेने के लिए परफेक्ट जगह है. आप इस जगह आने के बाद एक अलग तरह की प्रकृति की खूबसूरती देख पाएंगे. अगर आप सर्दियों के महीनों में जाते हैं तो यहां की बर्फबारी देखकर आप काफी रिफ्रेशिंग महसूस करेंगे. फैमिली या फ्रेंड्स के साथ में आने के लिए यह बेस्ट टूरिस्ट स्पॉट हो सकता है.

इसे भी पढ़ेंः मानसून में प्लान कर रहे हैं हनीमून, तो कोडैक्क्नाल का ट्रिप बनाएं

हुनलि
यह 5000 फीट की ऊंचाई पर स्थित एक छोटा सा शहर है. छोटा शहर होने के बावजूद भी यात्रियों के बीच यह शहर कम पॉपुलर नहीं है. इसकी वजह इस शहर में आने के बाद दिखने वाले नजारे हैं. बर्फ के साथ साथ जो हरियाली नजर आएगी वह शायद ही आपको कहीं और नजर आएं. यहां आपको ट्रैकिंग और एडवेंचरस एक्टिविटीज करने का अनुभव भी मिल सकता है. यहां आप दो घंटे की ट्रेकिंग करके कुपुनली के गुफा मंदिर तक भी पंहुच सकते हैं.

(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

Tags: Lifestyle, Travel

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here