Balotra ओवरलोड बसें दे रही है हादसों को न्यौता: छत पर बैठकर सफर कर रहे लोग, नियमों की उड़ रही खुले आम धज्जियां

0
13

राजस्थान की आवाज//तिलोक पटेल

बालोतरा का जिला परिवहन विभाग गंभीर नहीं है। बालोतरा से ग्रामीण क्षेत्रों को जाने वाली बसों के ओवरलोड होकर संचालित होने से इसे अच्छी तरह से समझा जा सकता है। अधिकारियों के सच्चाई से आंखें मूंद बैठे रहने पर हालात यह है कि बस के अंदर जितनी सवारियां होती है, उतनी ही सवारियां इनकी छतों पर होती है। कई महीनों से यह स्थिति बनी हुई है। जिला परिवहन विभाग के अधिकारी कोई कार्रवाई नहीं करने हैं।

Private bus photo
Balotra ओवरलोड बसें दे रही है हादसों को न्यौता: छत पर बैठकर सफर कर रहे लोग, नियमों की उड़ रही खुले आम धज्जियां

बालोतरा औद्योगिक क्षेत्र होने पर यहां कामकाज के लिए प्रतिदिन आसपास के कस्बों और गांव से हजारों लोग आते हैं। बालोतरा पहुंचने के लिए इनके लिए बस की ही सुविधा है। इस पर हजारों जने गांव से शहर को आवागमन करते हैं। इससे सुबह शहर को आने वाली वह शाम को गांव को जाने वाली बसें सवारियों से खचाखच भर कर चलती है।

यातायात के नियमों की खुलेआम धज्जियां उड़ाई जा रही है। अधिकारी कार्रवाई करने की बजाय कार्यालय में ही बैठे रहते हैं। अधिकारियों की अनदेखी पर शहर व क्षेत्र में किसी दिन बड़ा हादसा होने व बड़ी संख्या में लोगों के हताहत होने से इनकार नहीं किया जा सकता। इसे लेकर आम आदमी में अधिक रोष व्याप्त है।

जिला परिवहन अधिकारी भगवाना राम गहलोत कहना है कि परिवहन विभाग द्वारा निरंतर कार्यवाही की जा रही है। इस तरह की कोई शिकायत होगी तो कार्रवाई की जाएगी। बालोतरा से पाली चलने वाली बस आपरेटर मन मर्जी से किराया वसूली कर रहे हैं। बसों में की बार इसको लेकर परिवहन विभाग को इसके बारे में अवगत करवाया पर परिवहन विभाग की और से कोई कार्रवाई नहीं हुई है।