निजी बसों की मनमानी से परेशान, पंचायत समिति समदड़ी में रोजाना सैकड़ों लोगों की आवाजाही

0
8
निजी बसों की मनमानी से परेशान, पंचायत समिति समदड़ी में रोजाना सैकड़ों लोगों की आवाजाही
निजी बसों की मनमानी से परेशान, पंचायत समिति समदड़ी में रोजाना सैकड़ों लोगों की आवाजाही

Samdari निजी बसों की मनमानी से परेशान, पंचायत समिति समदड़ी में रोजाना सैकड़ों लोगों की आवाजाही इसके बावजूद भी रोडवेज की सुविधा नहीं

राजस्थान की आवाज/समदड़ी

निजी बसों की मनमानी से परेशान, पंचायत समिति समदड़ी में रोजाना सैकड़ों लोगों की आवाजाही
निजी बसों की मनमानी से परेशान, पंचायत समिति समदड़ी में रोजाना सैकड़ों लोगों की आवाजाही

समदड़ी देश की आजादी के 75 वर्ष पूर्ण होने के बावजूद आज भी कई ऐसे छोटे-बड़े कस्बे हैं, जो मूलभूत सुविधाओं से वंचित है। इनमें से एक रोडवेज सेवा भी है, जो लोगों को आज तक नहीं मिली है। जिले की सबसे बड़ी पंचायत समिति समदड़ी में पाली, जालोर, जोधपुर, जहां बाड़मेर जिले की सीमा समाप्त होती है, वहीं से पुनः समदड़ी क्षेत्र की शुरुआत होती है। व्यापारिक दृष्टि से भी प्रतिदिन हजारों की संख्या में लोग गांवों से खरीददारी के लिए आवागमन करते हैं, वहीं मजदूर वर्ग मजदूरी के लिए प्रतिदिन बालोतरा, पचपदरा रिफाइनरी क्षेत्र व जोधपुर के लिए प्रस्थान करते हैं। रोडवेज बस सेवा शुरु नहीं होने से निजी बस संचालकों की मनमानी चलती है, मजदूर वर्ग के लोगों को क्षमता से अधिक ठूंसकर ले जाते हैं। मुख्य बाजार से रेलवे स्टेशन 2 किलोमीटर दूर होने से निजी बसों के अलावा कोई अन्य साधन नजर नहीं आता है, इससे मनमाना किराया देना मजबूरी बन गया है। शिक्षा की दृष्टि से भी प्रतिदिन उच्च शिक्षा के लिए बालोतरा, जोधपुर विद्यार्थियों का आवागमन होता है लेकिन बगैर फिटनेस रहित बसें एक दूसरे से आगे निकलने की होड़ में क्षमता से अधिक सवारियों को भरकर तेज रफ्तार से भाग रही है, जो आए दिन हादसों का कारण बन रही है। ऐसे में समदड़ी क्षेत्र में रोडवेज बसों का संचालन शुरु किया जाए तो ग्रामीणों को आवागमन की अच्छी सुविधा मिलेगी। बालोतरा से पाली के लिए वर्ष 2002 में शुरू हुई रोडवेज बस सवारियां नहीं मिलने के कारण बंद कर जा सकती है।

समदड़ी रोडवेज बस
समदड़ी 20 सालों से रोडवेज का इंतजार : निजी बसों की मनमानी से परेशान

दी गई थी। इसके बाद से अब तक शुरू नहीं हुई। वहीं निजी बस संचालक रोडवेज बस शुरु होते ही किराया घटा देते हैं, चालक परिचालक से साठ-गांठ कर सवारियों को रोडवेज बस में बैठने ही नहीं देते, इससे कुछ दिनों बाद बंद करनी पड़ती है। जोधपुर से चलकर बालोतरा होते हुए सिवाना से जालोर निकलने वाली रोडवेज बसों को कल्याणपुर से समदड़ी सिवाना होते हुए जालोर प्रस्थान करें तो रोडवेज का सीधा फायदा सभी ग्रामीणों को मिलेगा। साथ ही व्यापारिक दृष्टि से भी फायदा होगा। वहीं बालोतरा से समदड़ी होते हुए पाली की रोडवेज बस को पुनः शुरु की जाए तो कम समय में लंबी दूरी तय की जा सकती हैं

स्थानीय जनप्रतिनिधियों का कहना है 

Santosh jingar samdari
संतोष जीनगर प्रधान पंचायत समिति समदड़ी

20 सालों से रोडवेज का इंतजार : निजी बसों की मनमानी से परेशान पंचायत समिति समदड़ी में रोजाना सैकड़ों लोगों की आवाजाही, इसके बावजूद भी रोडवेज की सुविधा नहीं  -:  संतोष जीनगर प्रधान पंचायत समिति समदड़ी 

 

पवनी देवी चौधरी जिला परिषद सदस्य सेवाली

पवनी देवी चौधरी जिला परिषद सदस्य सेवालीव्यापार, शिक्षा की दृष्टि से रोडवेज का पुनः संचालन शुरु हो जाए तो बड़ा फायदा होगा। सड़कों की हालत भी पहले से बेहतर है। हाइवे का भी निर्माण पूर्ण हो चुका है, इससे जोधपुर, पाली, जालोर, बाडमेर मुख्यालय से सीधा जुड़ाव हो जाएगा। निजी बसों से जिला मुख्यालय जाने वालों को बालोतरा से बसें बदलनी पड़ती है, इससे गरीब की जेब पर दुगुनी मार पड़ती है। -: पवनी देवी चौधरी जिला परिषद सदस्य सेवाली।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here