Karnataka मुस्लिम लड़के-हिंदू लड़की के अफेयर के बीच सस्पेंड हुए 18 छात्र

0
8
Karnataka मुस्लिम लड़के-हिंदू लड़की के अफेयर
Karnataka मुस्लिम लड़के-हिंदू लड़की के अफेयर के बीच सस्पेंड हुए 18 छात्र

कर्नाटक के दक्षिण कन्नड़ जिले से एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया मुस्लिम लड़के-हिंदू लड़की के अफेयर 

Karnataka मुस्लिम लड़के-हिंदू लड़की के अफेयर
Karnataka मुस्लिम लड़के-हिंदू लड़की के अफेयर के बीच सस्पेंड हुए 18 छात्र

कर्नाटक के दक्षिण कन्नड़ जिले से एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। दरअसल यहाँ जिले के विटला में एक निजी प्री-यूनिवर्सिटी कॉलेज ने पिछले सप्ताह विभिन्न धर्मों के 18 छात्रों को एक प्रेम प्रसंग के मामले में सस्पेंड कर दिया।

सूत्रों के मुताबिक, एक मुस्लिम लड़के और एक हिंदू लड़की के बीच कथित तौर पर अफेयर था। इस मामले के सामने आने के बाद कॉलेज मैनेजमेंट ने दोनों छात्रों के अभिभावकों को बुलाकर इसकी जानकारी दी। वहीं सूत्रों ने यह जानकारी दी है कि हाल ही में कॉलेज में वार्षिक समारोह के दौरान प्रेम प्रसंग की चर्चा होने लगी।

कॉलेज में गपशप और मोबाइल बैन के बीच लेक्चरर ने क्लासरूम में चेकिंग करने का फैसला किया। जांच के बाद हिंदू लड़की के बैग में एक प्रेम पत्र (लव लेटर) मिला। जिस दिन यह चेकिंग हुई उस दिन कथित प्रेम पत्र लिखने वाला मुस्लिम लड़का कॉलेज नहीं आया था। वहीं इसके बाद कॉलेज मैनेजमेंट ने लड़की को क्लास में नहीं आने को कहा। और लड़की को केवल परीक्षा में शामिल होने का निर्देश दिया गया। वहीं अगले दिन, जब मुस्लिम लड़का कॉलेज आया तो हिंदू लड़कों के एक समूह ने लड़की के साथ संबंध को लेकर उससे पूछताछ की। और इसी दौरान मुस्लिम लड़कों का एक समूह अफेयर के समर्थन में आगे आ गया। वहीं इस मामले को बढ़ता देख, कॉलेज मैनेजमेंट ने 18 छात्रों के अभिभावकों को उनसे बात की। उसके बाद कॉलेज ने इस मुद्दे में शामिल सभी 18 छात्रों को अनिश्चित अवधि के लिए निलंबित कर दिया और यह स्पष्ट कर दिया कि उन्हें परीक्षा देने की अनुमति नहीं दी जाएगी।

विटला पीयू कॉलेज के प्रिंसिपल आदर्श राय ने इस पूरे मामले के बारे में कहा, “हमने मामले में शामिल छात्रों को निर्देश दिया है कि वे कॉलेज न आएं ताकि किसी भी तरह की अप्रिय घटना को रोका जा सके। मैनेजमेंट ने छात्रों के सभी माता-पिता के साथ भी इस मसले पर चर्चा की है।” वहीं दूसरी तरफ मैनेजमेंट ने सस्पेंड किए गए छात्रों को जनवरी के अंत में होने वाली प्रारंभिक परीक्षा में बैठने की अनुमति दे दी है। हालांकि, कॉलेज मैनेजमेंट छात्रों के भविष्य को ध्यान में रखते हुए जल्द ही कक्षाओं में जाने की भी अनुमति देने के बारे में सोच रहा है। कॉलेज के प्राचार्य ने कहा, “शिक्षा प्राप्त करने से किसी को भी नहीं रोका जाना चाहिए।” इसी के साथ राज्य के तटीय क्षेत्र में दक्षिण कन्नड़ जिला एक सांप्रदायिक रूप से संवेदनशील क्षेत्र है जहां हाल के दिनों में नैतिक (मोरल) पुलिसिंग के कई मामले सामने आए हैं। पुलिस ने पिछले 15 दिनों में जिले में तीन मोरल पुलिसिंग के मामले दर्ज किए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here